गांधी बलिदान दिवस


30 जनवरी 1948 की साँय गांधी जी को गोली मारे जाने के बाद तुरंत का चित्र देखे और सुने गांधी-गाथा 

भारतीय स्वाधीनता आंदोलन मे क्रांतिकारियों से कम नहीं था गांधीजी का योगदान। किन्तु साम्राज्यवादियों के हितचिंतक उन्हें बर्दाश्त न कर सके और सांप्रदायिकता की आड़ मे गांधी जी को शहीद कर दिया गया। आज भी भूखी-नंगी जनता का उद्धार करने मे गांधी जी की नीतियाँ सहायक हो सकती हैं। परंतु अब गांधीजी का गुण गाँन 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s